[50+] Best Hindi Winter Shayari Of the Year| सर्दियों की शायरी| (New)

If you are looking for the best Winter Shayari in Hindi, you are at the right place. Here you will read the new and unique Winter Shayari that you can share with your friends, family and loved ones.

These Shayari are specially designed to make your nights memorable and beautiful. Since, Shayari has the power to share what you feel. You can use these Shayari to express what’s inside you.

Without wasting any further time, let’s move in to the Content.

Winter Shayari

Winter Shayari

काश तुझे सर्दी के मौसम मे लगे मुहब्बत की ठंड, और तू तड़प कर माँगे मुझे कम्बल की तरह.

इस बरसाती ठण्ड के मौसम में रजाई के अंदर रहना ही श्रेष्ठ कर्म है और टमाटर की चटनी के साथ पकोड़े, चाय मिलना मोक्ष की प्राप्ति.

जाड़े की रुत है नई तन पर नीली शाल तेरे साथ अच्छी लगी सर्दी अब के साल.

ख़ुदा करे कि तुमको “जुदाई” न मिले, कभी भी तुमको “तन्हाई” ना मिले,मुझे “Message” ना करो तो कुछ ऐसा हो,कि मौसम हो सर्दी का और तुमको “रजाई” ना मिले…

सर्दी ने अब पकड बनाई, अगल बगल से जकड रजाई, धुंध में सूरज नहीं है दिखने वाला, घडी की घंटी से उठ जा भाई

धुंध ने आकर छिपा लिया सितारों को, आपकी जुदाई का ऐहसास अब अलग सा है.

ठंड के मौसम में रोज रजाई कहती है अंदर तो आ गए, बाहर कैसे जाओगे?

मौसम हो ठण्ड का और हो साथ तेरा जहां। फिर डर किस बात का कौन बीमार होता है यहां।

अर्ज किया है हुआ अपहरण धूप का,पूरी जनता मौन, कोहरा थानेदार है,रपट लिखाए कौन

सुबह सुबह आकर सोये हुए को जगाने के लिये उसकी रजाई खींच लेने को महापाप की श्रेणी में रखा जायेगा

ठंड के मौसम में रोज रजाई कहती है अंदर तो आ गए, बाहर कैसे जाओगे?

Hindi Winter Shayari

नहाने से पहले 10 मिनट बैठकर बाल्टी को घूरने वाले दिन आ गए है…. Happy winter

फैन तो हमारे भी बहुत है, पर सर्दी की वजह से घरवाले चलाने नहीं देते…

उसके बाद किसी ने चाय नही पिलायी तो “असहिष्णुता माना”जाये…

ब्रेकींग न्यूज – आनेवाले कड़ाके की ठण्ड को देखते हुए केन्द्र सरकार का एक बड़ा फैसला,“नहाये हुए व्यक्ति को छुने वाला व्यक्ति भी नहाया हुआ माना जायेगा” जनहित में जारी…

सीतल-सीतल वायु चली, आकाश हुआ सुहाना,जोकर भी व्हाट्सऐप पढ़ने लगे, शिक्षित हुआ ज़माना.

लड़की रो-रो कर लड़के से कह रही हैं, हाथ छोड़ो, मेरी नाक बह रही हैं.

धूप भी खुल के कुछ नहीं कहती, रात ढलती नहीं थम जाती है

सर्द मौसम का मज़ा कितना अलग सा हैं, तन्हा रात में इंतजार कितना अलग सा हैं,धुंध बनी नक़ाब और छुपा लिया सितारों को, उनकी तन्हाई का अब एहसास कितना अलग

दिल की धड़कन रूक सी गई, साँसे मेरी थम सी गई,पूछा हमने दिल के डॉक्टर से तो पता चला कि सर्दी के कारण आपकी यादें दिल में जब सी गई…

ठण्ड में वादा नही करते कि दोस्ती निभायेंगे,जरूरत पड़ी तो सब कुछ ले लो, पर रजाई न दे पायेंगे.

इसलिए मेरा फ़र्ज हैं आपको बताना, ठंड आ गयी हैं, कृपया रोज मत नहाना.

शायरी सर्दी की ठिठुरती रात में फुटपाथ पर अरमान है दिलबर मुझे छोड़के किसी और पे मेहरबान है.

विडियो कॉल मत कर पगली, रजाई में से मुहँ निकाला नही जाता.

सर्दियों की शायरी

सुबह ठंडा पानी डाल कर उठाना यह आतंकवादी हमले के बराबर माना जायेगा…

उसके बाद किसी ने चाय नही पिलायी तो “असहिष्णुता माना”जाये…

ब्रेकींग न्यूज – आनेवाले कड़ाके की ठण्ड को देखते हुए केन्द्र सरकार का एक बड़ा फैसला,“नहाये हुए व्यक्ति को छुने वाला व्यक्ति भी नहाया हुआ माना जायेगा” जनहित में जारी…

सीतल-सीतल वायु चली, आकाश हुआ सुहाना,जोकर भी व्हाट्सऐप पढ़ने लगे, शिक्षित हुआ ज़माना.

लड़की रो-रो कर लड़के से कह रही हैं, हाथ छोड़ो, मेरी नाक बह रही हैं.

दिल की धड़कन रूक सी गई, साँसे मेरी थम सी गई,पूछा हमने दिल के डॉक्टर से तो पता चला कि सर्दी के कारण आपकी यादें दिल में जब सी गई…

धूप भी खुल के कुछ नहीं कहती, रात ढलती नहीं थम जाती है.

सर्द मौसम का मज़ा कितना अलग सा हैं, तन्हा रात में इंतजार कितना अलग सा हैं. धुंध बनी नक़ाब और छुपा लिया सितारों को, उनकी तन्हाई का अब एहसास कितना अलग

ठण्ड में वादा नही करते कि दोस्ती निभायेंगे,जरूरत पड़ी तो सब कुछ ले लो, पर रजाई न दे पायेंगे.

इसलिए मेरा फ़र्ज हैं आपको बताना, ठंड आ गयी हैं, कृपया रोज मत नहाना.

शायरी सर्दी की ठिठुरती रात में फुटपाथ पर अरमान है. दिलबर मुझे छोड़के किसी और पे मेहरबान है.

आखिर अब वो समय आ ही गया है जब हम सुबह उठ कर ज़िन्दगी का सबसे मुश्किल फैंसला करते हैं कि आज नहाना है या नही ??

Shayari For Lovers

Hindi Love Shayari Image
Hindi Love Shayari Image

हमें इसी ठंड का इन्तजार है बीमारी तो एक बहाना है कभी हमसफर बनके देखो तो जानो ये सफर कैसा सुहाना है

कोल्ड क्रीम जरूर लगाना, सर्दी आ रही हैं ना

मत ढूढ़ना मुझे इस जहाँ की तन्हाई में, ठण्ड बहुत हैं मैं हूँ अपनी रजाई में.

क्यूँ किसी की यादों को सोच कर रोया जाए, क्यूँ किसी के ख्यालों में यूँ खोया जाए, बाहर मौसम बहुत ख़राब हैं, क्यूँ न रजाई तानकर सोया जाए.

हर कामयाबी पर आपका नाम हो, आपके हर क़दम पर सफलता का मुकाम हो, ध्यान रखना, ठण्ड आ गयी हैं, मैं नही चाहता आपको जुकाम हो.

जब भी विंटर सीजन आती हैं, कसम से तेरी याद बहुत आती हैं, दिल सोचता है मेरा बार-बार मेरा इनर कब लौटाओगे यार…

Winter का जमाना है, SMS करके आपको सताना है, मौसम भी दिवाना है, 2-4 SMS आपभी कर दो, क्या… बेलेन्स बचा कर,

पहन लो आप स्वेटर आपसे यही हैं हमारी गुज़ारिश, मुबारक हो आपको सर्दी की पहली बारिश.

चेतावनी- ठंडी के मौसम तक गुड मार्निंग संदेश दोपहर 12.00 बजे तक स्वीकारे जायेंगे..

New Shayari for Winters

सभी दोस्तो से एक request है कि ठंड मे मत पियो वरना कही पी के कही पड़ गये तो…लोग होश मे लाने के लिए एक बालटी पानी डाल के नहला

अर्ज किया है…सारी सारी रात गुजर जाती है. बस इसी कस्मकस में की…ये साली रजाई में, हवा किधर से घुस रही है…. !!!

मौसम इस कदर खुमारी में है , मेरा शहर भी कश्मीर होने की तैयारी में हैं।

वो गले से लिपट के सोते हैं, आज-कल गर्मियाँ हैं, सर्दी में भी।

लंबी रातों में गर्म यादें, वो सर्द मौसम आने को हैं।

बड़ी बेवफ़ा हो जाती है ग़ालिब, ये घड़ी भी सर्दियों में, 5 मिनट और सोने की सोचो तो, 30 मिनट आगे बढ़ जाती है.

बड़ी सख्त इम्तिहान की घड़ी होती हैं, सुबह-सुबह ठंड में नहाना बात बड़ी होती हैं…

गलती से पंखे का बटन क्या दब गया…पूरा परिवार यूँ देखने लग गया जैसे मैं कोई आतंकवादी हूँ …

ऐ सर्दी इतना न इतरा अगर हिम्मत है तो जून में आ…


We hope that you must have liked these Winter Shayari. Since, you have loved these shayari, it would be really great if you’ll share it with your friends and family members. Let them also enjoy after reading these.

If you are a real shayari lover, do visit out posts page. Here are some of our recent posts.

Also, Follow us on Social Media to never miss an update.

Thankyou For Reading…

Show Some Love...

Leave a Comment